कंप्यूटर क्या है

कंप्यूटर क्या है: कंप्यूटर के 2 प्रकार के होते है क्या ?

कंप्यूटर के इलेक्ट्रॉनिक मशीन है यह मानव द्वारा निर्मित किया गया है और इसका प्रयोग भी मानव के काम को आसान बनाने के लिए किया जाता है। कंप्यूटर आसानी से किसी काम को डिजिटली रूप से कर देता है और आप को इसका रिजल्ट भी बहुत आसानी से देता है। कंप्यूटर किसी भी काम का गणना को आसानी से कर देता है। पर काम करना भी बहुत आसान है। और आप यहाँ पर काम कर के लाखो रुपये भी कमा सकते है। आप लोगो को तो पता ही होगा की कंप्यूटर क्या है। अगर नहीं है तो हम पता देते है।

एक कप्यूटर मूल रूप से एक प्रोग्राम की जा सकने वाली कम्प्यूटिंग मशीन है। पहले कंप्यूटर का प्रयोग जटिल गड़ना के लिए होता था और इन्हे केवल वैज्ञानिक और इंजीनियर ही प्रयोग करते थे। लेकिन टेक्नोलॉजी के बढ़ने से काम भी सुधार लाने के लिए काम को काम समय में करने के लिए लोगो को मोबाइल या कंप्यूटर को अव्सय्कता पड़ने लगा और सभी लोगो के पास धीरे धीरे कंप्यूटर होने लगा। और लोग इस समय सबसे ज्यादा कंप्यूटर और मोबाइल का प्रयोग करने लगे है। सभी लोगो के पास मोबाइल और कंप्यूटर और मोबाइल होने लगा है। सभी अपने काम में मोबाइल या कंप्यूटर के प्रयोग से अपने काम को आसान बना रहे है। लोगो को कंप्यूटर पर काम करना भी आसान लगता है। लोग हमेसा से कंप्यूटर का प्रयोग करना चाहते भी है।

कंप्यूटर शब्द का मतलब कंप्यूट यानि गणना करना है अतः एक कंप्यूटर को आम तैर पर एक गणना करने वाली डिवाइस मना जा सकता है। जो बहुत तेजी से अर्रोमेट्रिक को मन सकता है। आज एक के कंप्यूटर बहुत ही स्मार्ट और काम के हो गए है। इनपर काम करना भी बहुत आसान हो गए है। कंप्यूटर के मदत से आप किसी भी काम को कर सकते है। जबसे सरे काम डिजिटल हुए है कंप्यूटर की मांग भी बढ़ी है। लोगो को अपना काम ऑनलाइन और कंप्यूटर पर काना अच्छा लगता है।

कंप्यूटर के प्रकार ( Types of Computer In Hindi )

कंप्यूटर को उसके प्रयोग के आधार पर बहुत भागो में बाट सकते है। लेकिन कंप्यूटर के काम को देकखर इसे मुखयत दो भागो में बाटा गया है। जिसमे ये निम्न है।

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer )
  2. डिजिटल कंप्यूटर ( Digital Computer )

एनालॉग कंप्यूटर क्या है (Analog Computer )

एनालॉग कंप्यूटर अयेसे सूचना को हैंडल या प्रोसेसिंग करता है जो भौतिक प्रक्रितक को जैसे तापमान, दवाब और होने फिजिकल एक्टिविटी को जिस सिस्टम से डिटेक्ट किया जाता है। एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer ) कहा जाता है।

एनालॉग कंप्यूटर को हम सरल भासा में कहे तो वह कंप्यूटर किसको हम डिजिटल यानि मॉनिटर या किसी भी काम को करने के लिए अन्य डिजिटली का सहारा नहीं लेते है एनालॉग कंप्यूटर कहलाता है। एनालॉग कंप्यूटर में हम किसी भी कॅल्क्युलेटर इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम को कह सकते है जिससे हमारा कुछ काम उस सिस्टम से किया जाता है analog computer कहलाता है। एनालॉग कंप्यूटर में हम पूरा काम कंप्यूटर पर नहीं करते है कुछ काम को हमें खुद ही करना होता है। इसका प्रयोग धीरे धीरे काम हो जाता है।

डिजिटल कंप्यूटर क्या है ( Digital Computer )

डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer ) ऐसे सूचनाएं को प्रोसेसिंग करते है। जो अनिवार्य रूप से बाइनरी टू- स्टेट फॉर्म में होते है जैसे 0 और 1 जब हम कम्प्यूटर्स की बात करते है तो हम आमतैर पर डिजिटल प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक मशीन की ओर ही इसरा करते है। डिजिटल कम्प्यूटर्स में माइक्रो कम्प्यूटर्स मिनी कम्प्यूटर्स , मेनफ्रेम कंप्यूटर और सुपर कंप्यूटर के अंतरगत एते है। जो आकर के अनुसार निचे से ऊपर के कर्म में वर्गकृत है। डिजिटल कंप्यूटर में प्रोसेसर और यूनिट के साथ इसमें बहुत इलेक्ट्रॉनिक प्रोसेसिंग के लिए अलग से कंप्यूटिगं मशीन को कँनेट कर सकते है। कंप्यूटर के प्रोसेसिंग और मॉडल में बहुत सरे चेंज होने लगे है। लोग कंप्यूटर के प्रयोग के अनुसार उसके मॉडल में चेंज करते है। कंप्यूटर के मॉडल यानि उसके साइज पहले कंप्यूटर बहुत बड़े होते थे लेकिन आजकल कंप्यूटर के लिए छोटे मोबाइल फ़ोन और पॉम टॉप का उसे कर रहे है। जैसे जैसे टेक्नोलॉजी चेंज हो रहे है। आने वाले समय में बिना कुछ किये बहुत सरे काम को केवल कंप्यूटर के मदद से कर सकते है। कंप्यूट और नए आर्टिफीसियल इंटेलीजेंट के मदद में इसमें बहुत बदलाव् किये जा सकते है। कंप्यूटर अपने आप सरे सवाल को वह आसानी से समझ सकते है।

कंप्यूटर पर आप को किसी भी प्रकार के टाइपिंग करने की जरूरत नहीं होगी आप को कंप्यूटर अपने अनुसार इन भासा को चेंज करके आप को बता देता है।अभी आप लोगो के सामने बहुत सरे टेक्नोलॉजी आने वाली है।

कंप्यूटर की विशेषताएं (Computer Features )

कंप्यूटर के उनके प्रकार और उपयोग के आधार पर निम्न बिशेषता होता है :

  1. सूचना और स्टोर करना एवं गणना करने की तीव्र गति से काम करता है। जिससे आप अपने काम को बहुत आसानी से और तेजी से कर सकते है।
  2. सूचनाएं को ग्रहण करने एवं उन्हें भविस्य के उपयोग के लिए स्टोर करके रखने की छमता।
  3. सूचनाएं जिसे हम एक जगह से दूसरे जगह आसानी से भेज सकते है। जिससे हमारा काम भी आसानी से हो सकते है।
  4. अपने आंतरिक नियन्तण अथवा कुछ बाहरी गतिविधिया को नियंत्रण के लिए सरल लॉजिक नियम को उपयोग करने की छमता।
  5. अन्य कंप्यूटर सिस्टम से कम्युनिकेशन करने में बहुत आसानी से इंटरनेट से जुड़ कर काम करता है।
  6. गणनावो के लिए बाद उनका तीब्र से एवं सही तरीका से विशलेषण करना।
  7. कंप्यूटर पर बहुत सरे बड़े बड़े काम को आसानी से किया जा सकता है। आप कंप्यूटर पर किसी काम को अपने अनुसार कर सकते है। और आप कंप्यूटर को निर्देश दे सकते है की वह आप को रिजल्ट किस रूप में दे।

कंप्यूटर की सँरचना (Anatomy)

कंप्यूटर की सँरचना बात करे तो कंप्यूटर में प्रयोग होने वाले पार्ट को ही हम उनके सरचना में ले सकते है। लेकिन यह उतना सही नहीं होगा। कंप्यूटर में होने वाले काम को हम उनके सरचना में जोड़ सकते है। जैसे – हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के मुख्य पार्ट है। और आप कंप्यूटर पर इसका प्रयोग कर सकते है।

  1. इनपुट डिवाइस
  2. आउटपुट डिवाइस
  3. स्टोरेज
  4. स्टोरेज डिवाइस
  5. कम्युनिकेशन डिवाइस
  6. CPU

(प्रोसेसिंग डाटा –इनपुट —प्रोसेसिंग—आउटपुट ) यही प्रोसेस हमेशा कंप्यूटर में होता है और आप अपने कंप्यूटर में यह काम करते है तो इतना प्रोसेस तो होता ही है आप के कंप्यूटर में जिसे आप अपने कंप्यूटर में काम करके उसे आगे के तरह बढ़ा देते है।

Computer Science In Hindi कंप्यूटर साइंस

कंप्यूटर साइंस एक बहुत ही अच्छा काम हो सकता है। आप कंप्यूटर साइंस के मदत से कही भी अच्छी सी जॉब यह किसी ऑफिस के रूप में जॉब कर सकते है। कंप्यूटर साइंस एक सब्जेक्ट होता है। जिसमें हम कंप्यूटर के बारे में पढाई करते है और कंप्यूटर से जुड़े सरे जानकरी को हम लोग पता है। कंप्यूटर साइंस के बारे में और जानकरी के लिए आप हमें कमेंट करे हम आप को जरूर कंप्यूटर साइंस से जुड़े और भी जानकरी आप को देने की कोसिस करेंगे।

और पढ़े :-

कंप्यूटर क्या है समझाइए?

कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो सूचनाओं को स्टोर और प्रोसेस कर सकती है। अधिकांश कंप्यूटर एक बाइनरी सिस्टम पर भरोसा करते हैं जो डेटा स्टोर करने, एल्गोरिदम की गणना करने और जानकारी प्रदर्शित करने जैसे कार्यों को पूरा करने के लिए दो चर, 0 और 1 का उपयोग करता है।

कंप्यूटर की सबसे अच्छी परिभाषा क्या है?

एक जो विशेष रूप से गणना करता है: एक प्रोग्राम योग्य आमतौर पर इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जो 3-डी मॉडल डिजाइन करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करके डेटा को स्टोर, पुनर्प्राप्त और संसाधित कर सकता है।

कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?

कुछ लोगों का कहना है कि COMPUTER का मतलब कॉमन ऑपरेटिंग मशीन है जिसका इस्तेमाल तकनीकी और शैक्षिक अनुसंधान के लिए किया जाता है। … “कंप्यूटर एक सामान्य प्रयोजन का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जिसका उपयोग अंकगणित और तार्किक संचालन को स्वचालित रूप से करने के लिए किया जाता है”

कंप्यूटर किसने बनाया ?

कंप्यूटर को चार्ल्स बैबेज ने बनाया था।

आज आप ने क्या सीखा आप ने सीखा की कंप्यूटर क्या है , कंप्यूटर के प्रकार ,और कंप्यूटर साइंस के बारे में आप को साडी जानकरी हिंदी में दी गयी है। अगर आप को कंप्यूटर साइंस और कंप्यूटर क्या है इससे जुड़े किसी भी सवाल के बारे में आप हमसे कमेंट कर सकते है।

1 thought on “कंप्यूटर क्या है: कंप्यूटर के 2 प्रकार के होते है क्या ?”

  1. Pingback: हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर Hardware and software In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

वर्ल्ड मैप और गूगल मैप की जानकारिया लैपटॉप और कंप्यूटर के बारे में फेसबुक न्यूज़ और उसे फीचर एप्पल लैपटॉप और एप्पल मोबाइल फैक्ट्स SpaceX और NASA: नासा न्यूज़ और नए जानकारिया
Enable Notification    YES No