SPACEX VS NASA

सपकेक्स नासा कैसे साथ मिलकर काम करते है ( SPACEX VS NASA )

हम जानते है की SPACEX VS NASA KI HELP KAISE KARTA HAI की हेल्प करता है। लेकिन वह हेल्प कैसे करता है आज हम उसके बारे में जानेंगे ,

सपकेक्स बहुत दिनों से अपने स्पेस सेंटर में राकेट और सेटेलाइट अपने पास से अंतरिछ में भेजता है यानि की ट्रांसपोर्ट करता है।

हमें यह भी पता है सपकेक्स मात्र एक ही कंपनी है राकेट को दुबारा लैंडिंग करा लेता है। पुरे वर्ल्ड में सपकेक्स ही सबसे बड़ी कंपनी है जिसके पास नासा का प्रोजेक्ट वही हैंडिले करता है।

सपकेक्स NASA KI HELP सरे सटेलिते को लैंडिंग स्पेस में सेट करने, सैटेलाइट को उसके ऑर्बिट में पहुंचने का काम सपकेक्स करता है , साथ ही अपने सरे प्रोजेक्ट में नासा की हेल्प लेता है और उसके साथ मिलकर काम करता है।

सपकेक्स ने नासा के हजारो मिशन में साथ दिया है , नासा उसके काम को अपने अनुसार करता है , और सपकेक्स से बस सैटेलाइट को ट्रांसपोर्ट का काम करवाता है।

स्पेस तक पहुंचाया जाता है। SPACEX VS NASA KI HELP KAISE KARTA HAI

  1. सपकेक्स नासा के सैटेलाइट को नासा द्वारा दिए गए ऑर्बिट तक राकेट दवारा पहुँचता है।
  2. सपकेक्स नासा के साथ मिकल स्पेस रिसर्च पर काम करता है।
  3. नासा के सरे स्पेस में काम आने वाले टेक को सपकेक्स बनता है। SPACEX VS NASA
  4. सपकेक्स एक प्राइवेट कंपनी है लेकिन वह सर्कार साथ देता है जिससे नासा जैसी सरकारी कंपनी को एक सहायता मिलती है।
  5. चन्द्रमा, मंगल, सूर्य, जैसे ग्रहो का पता लगाने और उसके बारे में जानकारी लेने के लिए नासा सपकेक्स के साथ मिलकर है।

कुछ तरीके : SPACEX VS NASA KI हेल्प का

नासा हमेसा से सबसे बड़ी स्पेस सेंटर कंपनी है। को पुरे देश को सरे सैटेलाइट को लांच करता है यही करार है की नासा सबसे बड़ी स्पेस सेंटर मन जाता है। SPACEX NASA KI HELP KAISE KARTA HAI

सपकेक्स अपने राकेट में नासा के सैटेलाइट की पूरी अलुमुनिययम से कोटेड सैटेलाइट लो राकेट में रख दिया जाता है। यह सैटेलाइट को हाइड्रोजन की मदद से अंतरिछ में लेकर उडाता है।

हाइड्रोजन सबसे गर्म गैस है जिसके वजह से बहुत साडी गैस निकलती है। और वह सैटेलाइट को लेकर उड़ने लगता है , सैटेलाइट लो लेकर बहुत तेजी से आंतरिक शक्ति से लेकर आसमान के तरफ ले जाता है।

वह जॉकेट में 3 स्टेप में सेपरेशन होता है। वह राकेट सैटेलाइट लो लेजाकर उस ग्रह के ऑर्बिट में छोड़ देता है सैटेलाइट उस ऑर्बिट में घूमता रहता है। SPACEX VS NASA KI HELP KAISE KARTA HAI

सैटेलाइट में हाई क्विलटी कैमरा लगे होते है और उसमे सैंसर लगे होते है जो उस ग्रह की सारि जानकारी को इक्कठा करते रहते है यह साड़ी जानकारी को वह सिंग्नल के माधयम से नासा या स्पेस सेंटर को भेजते है।

नासा के साथ मिलकर सपकेक्स भी बहुत साड़ी कमाई कर लेती है। आप को जानकर हैरानी होगी की सपकेक्स के मालिक एलोन मुश्क आज दुनुया के सबसे आमिर आदमी में एक है।

नासा के मिलकर सपकेक्स प्रोजेक्ट पर काम कर चूका है। जो आज सबसे जयादा सोशल मीडिया पर काम कर रही है।

स्पेसX नासा के साथ मिकलर सरे जगहों फीवर केबल भिच्छा रही है यह अपना सेकुआरे नेटवर्क को भिच्छा रहे है जो बहुत ही काम की है यह अपने खुद का नेटवर्क पर काम करते है। सपकेक्स और नासा कैसे साथ मिलकर काम करते है

Solar सिस्टम 2021: KAISE BANAYA GYA HAI ISKE DAWARA

सपकेक्स एक ऐसी कंपनी है जो पुरे दुनिया में सबसे बड़ी सोलर कंपनी है यह अपने सबसे ज्यादा काम को सोलर के दवारा करती यही करार है की यह नासा साथ मिलकर सोलर कार या सोलर पन्नेल के दवारा सरे सोलर एनर्जी को करने को कहता है।

सपकेक्स अपने राकेट के दवारा मंगल पर एक सोलर कार को 22 मार्च में लॉच किया है यह कार सोलर सिस्टम के दवारा चार्ज है। और उसे चार्ज होने के बाद उसमे हमेसा गाना चलता रहता है। SPACEX VS NASA KI HELP KAISE KARTA HAI

यह कार मगल ग्रह के चारो वॉर हमेसा घूमता रहता है और मुश्क ने कहा यह कार में हमेसा गाना बजता रहेगा जो बहुत हो अचछा होगा। इसी को देखते हुए एलोन मुश्क ने सोलर एनर्जी को बढ़ावा देते हुए कहा की हम एक आएसा कार्र बनाये की वह सोलर से चले। SPACEX NASA KI HELP KAISE KARTA HAI

नासा के साथ मिकलर वह सोलर सिटी बनाये जो आज घर के खिड़कियों पर लगे रहते है यह घर में अवसायक बिजली की खपत को पूरा करेगा।

QNA

नासा और स्पेसएक्स में क्या अंतर है?

खैर, स्पेसएक्स एक निजी स्वामित्व वाली कंपनी है, जिसकी स्थापना अत्यधिक सम्मानित निजी अंतरिक्ष उद्यमी एलोन मस्क ने की है। दूसरी ओर, नासा एक सरकारी स्वामित्व वाली और वित्त पोषित संस्था है। … और कंपनी अपने ग्राहकों के लिए वाणिज्यिक और सैन्य दोनों उपग्रहों को लॉन्च करती है। तो, स्पेसएक्स और नासा के बीच यही अंतर है।

स्पेसएक्स नासा से कितना सस्ता है?

स्पेसएक्स अब नासा के लॉन्च के लगभग दो-तिहाई हिस्से को संभालता है, जिसमें कई शोध पेलोड शामिल हैं, जिसमें उड़ानें $ 62 मिलियन जितनी सस्ती हैं, एक प्रतियोगी यूनाइटेड लॉन्च एलायंस के रॉकेट की कीमत का लगभग दो-तिहाई।

स्पेसएक्स नासा कितना चार्ज करता है?

नासा ने एलोन मस्क के स्पेसएक्स को अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा की सतह पर फेरी लगाने के लिए 2.9 बिलियन डॉलर का भुगतान किया: एनपीआर।

फाल्कन 9 इतना सस्ता क्यों है?

स्टारलिंक तारामंडल में अंततः हजारों उपग्रह शामिल होंगे जिन्हें विश्वव्यापी उच्च गति इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। संक्षेप में, हामीदार ने कहा कि फाल्कन 9 मिशन बीमा के लिए सस्ता है क्योंकि रॉकेट की लागत प्रतियोगियों की तुलना में कम है ‘- जरूरी नहीं क्योंकि इसे अधिक विश्वसनीय के रूप में देखा जाता है।

स्पेसएक्स कैसे पैसा कमाता है?

आज, स्पेसएक्स विभिन्न प्रकार के ग्राहकों से राजस्व उत्पन्न करता है, लेकिन इसके वित्त पोषण का एक महत्वपूर्ण हिस्सा उड़ान चालक दल और कार्गो से आईएसएस के साथ-साथ नासा विज्ञान अंतरिक्ष यान को लॉन्च करने से आता है। स्पेसएक्स अमेरिकी रक्षा विभाग, एक अन्य करदाता-वित्त पोषित इकाई के लिए पेलोड भी उड़ाता है।

स्पेसएक्स की कीमत 2021 कितनी है?

फरवरी 2021 के निजी बाजार मूल्यांकन के आधार पर, स्पेसएक्स की कीमत अब लगभग 74 बिलियन डॉलर है। यह इसे शीर्ष पांच वैश्विक एयरोस्पेस और रक्षा फ्रेंचाइजी बनाता है।

SPACEX NASA KI HELP KAISE KARTA HAI, SPACEX VS NASA NASA KI HELP, #SPACEX #NASA #SPACE #TECH #BLOG

2 thoughts on “सपकेक्स नासा कैसे साथ मिलकर काम करते है ( SPACEX VS NASA )”

  1. Pingback: satellite kya hai ? || भारत के सैटेलाइट जो भेजे है 2021 तक

  2. Pingback: SpaceX new mission : TRANSPORTER-2 Mission in Hindi - Askride Tech

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.